Monday, 24 June 2013

कहा था तुमने कि तुम परछाईं हो मेरी
सच ही तो कहा था
कल, रात आकर मेरे कानों में कह गयी

No comments:

Post a Comment